Wednesday, April 17, 2024
HomeFestival WishDesh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari

 

 

दिल में है देश की चाह,

उसके लिए है एक ही राह।

Dil Mein Hai Desh Kee Chaah,

Usake Lie Hai Ek Hee Raah.

 

सिर ऊँचा करेंगे हम,

देशभक्ति में हैं हम।

Sir Ooncha Karenge Ham,

Deshabhakti Mein Hain Ham.

 

सैन्य के जवानों की श्रद्धांजलि,

उनके बलिदान की कहानी।

Sainy Ke Javaanon Kee Shraddhaanjali,

Unake Balidaan Kee Kahaanee.

Desh Bhakti Shayari

आजादी की तलवारों से सजीव,

है वीर शहीदों की कहानी।

Aajaadee Kee Talavaaron Se Sajeev,

Hai Veer Shaheedon Kee Kahaanee.

 

जलेगा हर दिल देश के लिए,

करेंगे एक साथ ये सारा जहाँ।

Jalega Har Dil Desh Ke Lie,

Karenge Ek Saath Ye Saara Jahaan.

 

भारत माता की जय,

हर दिल में है यही बात सारा वतन।

Bhaarat Maata Kee Jay,

Har Dil Mein Hai Yahee Baat Saara Vatan.

 

दिल में बसी है एक प्यारी सी बात,

देश के लिए हो जाए जो भी कदम।

Dil Mein Basee Hai Ek Pyaaree See Baat,

Desh Ke Lie Ho Jae Jo Bhee Kadam.

 

प्रेम और देशभक्ति, ये हैं हमारे जीवन के राज,

इनमें ही बसा है हमारा सबसे प्यारा ख्वाब।

Prem Aur Deshabhakti, Ye Hain Hamaare Jeevan Ke Raaj,

Inamen Hee Basa Hai Hamaara Sabase Pyaara Khvaab.

 

दिल से निकलती है वो दुआ,

जो कहती है, “मेरा देश महान है

Dil Se Nikalatee Hai Vo Dua,

Jo Kahatee Hai, “Mera Desh Mahaan Hai  

मोहब्बत बनी है देश के नाम,

हर क़दम पे मिलता है प्यार इस धरा के कम।

Mohabbat Banee Hai Desh Ke Naam,

Har Qadam Pe Milata Hai Pyaar Is Dhara Ke Kam.

 

देश प्रेम में है लिपटा हर दिल,

प्यार से बढ़कर है ये बंधन अमर निशान।

Desh Prem Mein Hai Lipata Har Dil,

Pyaar Se Badhakar Hai Ye Bandhan Amar Nishaan.

Desh Bhakti Poem

जब से छूआ है दिल ने देश को,

मोहब्बत से भरी है हर बात हमारी।

Jab Se Chhooa Hai Dil Ne Desh Ko,

Mohabbat Se Bharee Hai Har Baat Hamaaree.

 

इस मिट्टी की खुशबू में है रिश्ता हमारा,

देश के लिए बलिदान, इसी में है प्यारा।

Is Mittee Kee Khushaboo Mein Hai Rishta Hamaara,

Desh Ke Lie Balidaan, Isee Mein Hai Pyaara.

 

लबों पर है देश की बातें,

दिल में बसा है सिर्फ एक ही आसमान।

Labon Par Hai Desh Kee Baaten,

Dil Mein Basa Hai Sirph Ek Hee Aasamaan.

 

प्रेम की भाषा है ये देशभक्ति,

हर दिल में है बसी एक प्यारी सी मिठास।

Prem Kee Bhaasha Hai Ye Deshabhakti,

Har Dil Mein Hai Basee Ek Pyaaree See Mithaas

 

जब से मिली है मिट्टी की बू,

हर दिल में है बसी देश की ये प्रेम कहानी।

Jab Se Milee Hai Mittee Kee Boo,

Har Dil Mein Hai Basee Desh Kee Ye Prem Kahaanee.

Desh Bhakti Poem

Desh Bhakti Poem

 

देश का प्यार, जिवन का अद्भूत सार, साथी हैं हम, राहों में साथी यार।

तिरंगे की छाया, हर दिल में बसा है, बलिदान का रंग, हर कसम में बहा है।

सेना के वीर, हमारे गर्व और शौर्य, मिटाएंगे दुश्मन, जब साथ हो देशभक्ति का प्यार।

स्वतंत्रता की राह, आगे बढ़ते चलें, देश के लिए जीना, यही हमारी मंज़िल है।

इस धरती पर जिसका राज है भगवान, उस राजा के दरबार में, हम हैं देशभक्त कन्हैया।

भारत माता का आशीर्वाद हमारे साथ है, देश प्रेम में ही हमारा जीवन सार्थक है।

सभी को मिले शक्ति, राष्ट्र की सेवा में, यही है हमारा असली देशभक्ती का महत्व।

 

जय हिंद जय भारत

Desh Bhakti Poem

Desh Ka Pyaar, Jivan Ka Adbhoot Saar, Saathee Hain Ham, Raahon Mein Saathee Yaar.

Tirange Kee Chhaaya, Har Dil Mein Basa Hai, Balidaan Ka Rang, Har Kasam Mein Baha Hai.

Sena Ke Veer, Hamaare Garv Aur Shaury, Mitaenge Dushman, Jab Saath Ho Deshabhakti Ka Pyaar.

Svatantrata Kee Raah, Aage Badhate Chalen, Desh Ke Lie Jeena, Yahee Hamaara Manzil Hai.

Is Dharatee Par Jisaka Raaj Hai Bhagavaan, Us Raaja Ke Darabaar Mein, Ham Hain Deshabhakt Kanhaiya.

Bhaarat Maata Ka Aasheervaad Hamaare Saath Hai, Desh Prem Mein Hee Hamaara Jeevan Saarthak Hai.

Sabhee Ko Mile Shakti, Raashtr Kee Seva Mein, Yahee Hai Hamaara Asalee Deshabhaktee Ka Mahatv.

 

Jay Hind Jay Bhaarat

Desh Bhakti Poem In Hindi

Desh Bhakti Poem In Hindi

 

सूरज की किरणों में रंगी धरा, बहता यह शानदार नदी का प्यारा।

वीरता का संग्राम, इस मिट्टी में बसा है, सेना के जवानों का हौंसला बुलंद है।

तिरंगे की ऊँचाई, देश की गरिमा का प्रतीक, हर दिल में बसा है एक देशभक्ति का गीत।

बलिदान का रंग, सच्चे देशभक्त का पहचान, इस मिट्टी की खुशबू में है वीरता की कहानी।

भारत की धरती पर, गीत हर दिल में है, सच्चे देशभक्त का हर कदम, गर्व से है।

माँ भारती का आशीर्वाद, हमारी ताक़द है, इस देशभक्ति की राह में, हम सब एक साथ हैं।

यह धरा है हमारी माता, इसे स्वच्छ रखेंगे, देशभक्ति के साथ, हम सब मिलकर बढ़ेंगे।

सजग नजरों से देखो, यह सुंदर देश हमारा, देशभक्ति में ही है हमारा जीवन सारा।

 

जय हिंद जय भारत

Desh Bhakti Poem In Hindi

Sooraj Kee Kiranon Mein Rangee Dhara, Bahata Yah Shaanadaar Nadee Ka Pyaara.

Veerata Ka Sangraam, Is Mittee Mein Basa Hai, Sena Ke Javaanon Ka Haunsala Buland Hai.

Tirange Kee Oonchaee, Desh Kee Garima Ka Prateek, Har Dil Mein Basa Hai Ek Deshabhakti Ka Geet.

Balidaan Ka Rang, Sachche Deshabhakt Ka Pahachaan, Is Mittee Kee Khushaboo Mein Hai Veerata Kee Kahaanee. Bhaarat Kee Dharatee Par, Geet Har Dil Mein Hai, Sachche Deshabhakt Ka Har Kadam, Garv Se Hai.

Maan Bhaaratee Ka Aasheervaad, Hamaaree Taaqad Hai, Is Deshabhakti Kee Raah Mein, Ham Sab Ek Saath Hain.

Yah Dhara Hai Hamaaree Maata, Ise Svachchh Rakhenge, Deshabhakti Ke Saath, Ham Sab Milakar Badhenge.

Sajag Najaron Se Dekho, Yah Sundar Desh Hamaara, Deshabhakti Mein Hee Hai Hamaara Jeevan Saara.

 

Jay Hind Jay Bhaarat

Popular posts

My favorites